Benefits of sex for man and women

0
415

महिलाओं के लिए सेक्‍स के लाभ
महिलाएं सेक्‍स के दौरान न सिर्फ आंनद का अनुभव करती है बल्कि सेक्‍स से उन्‍हे कई प्रकार के शारीरिक और भावनात्‍मक लाभ भी होते है, सेक्‍स से महिलाओं के शारीरिक सरंचना में भी परिर्वतन आता है। सेक्‍स के दौरान अपने पार्टनर द्वारा मिले शारीरिक और भावनात्‍मक सर्पोट से महिलाओं में आत्‍मविश्‍वास बढ़ता है। यूं तो महिलाओं में हमेशा सेक्‍स की चाहत होती है, लेकिन मासिक पूरा हो जाने के पांच से सात दिन तक महिलाएं सेक्स के मूड में ज्यादा होती हैं क्योंकि मासिक चक्र पूरा होने के बाद सेक्स वाले हार्मोस सक्रिय हो जाते हैं। महावारी के पांच से सात दिन में सेक्स करना ज्यादा ही आनंद की अनुभूति कराता है साथ ही इसका लाभ कम से कम 12 दिनों तक रहता है। महावारी के बाद महिलाओं में सेक्स की तीव्र इच्छा जागृत होना स्वाभाविक है, क्योंकि इन दिनों में गर्भधारण की संभावना कम हो जाती। वैसे तो यह शारीरिक जरूरत का एक आम हिस्‍सा है। सेक्स वैवाहिक संबंधों को सुखी बनाता है और भविष्य में दोनों के बीच सेक्स को लेकर दूरियां कभी नहीं आती। आइए इस अर्टिकल के माध्‍यम से जानें कि महिलाओं को सेक्‍स से क्‍या लाभ होते हैं।
यह एक शारीरिक व्‍यायाम है जो आपको स्‍वस्‍थ रखता है। जीं हां महिलाओं में सेक्‍स के दौरान से शरीर में कैलोरी का जलन होता है यानी सेक्‍स शरीर का वजन कम करने में मददगार होता है। इससे महिलाओं का वजन कम होता है।
महिलाओं में सेक्स उन्मुक्ति को बढ़ाता है, और एक अलग ही आनंद का अनुभव कराता है।
सेक्‍स कई बीमारियों को कम करता है और अन्य बीमारियों के संक्रमण से शरीर की प्रतिरक्षा करता है, और महिलाओं को स्‍वस्थ बनाता हैं।
सेक्स तनाव को कम करता है और महिलाओं को खुश रखने में मदद करता है।
महिलाओं में सेक्‍स रक्तचाप को भी कम करता हैा सेक्‍स से रक्‍तचाप नियंत्रित रहता है और कई प्रकार की बीमारियों से मुक्ति मिलती है।
सेक्स दिल को मजबूत बनाता है, जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों की संभावना कम होती एक सप्ताह में सेक्स दो बार या दो से अधिक बार सेक्‍स करने से महिलाओं में घातक दिल के दौरे की संभावना उन महिलाओं के तुलना में कम हो जाती है, जो कम सेक्स करती हैा
सेक्स महिलाओं में आत्मसम्मान को बढ़ाता है।
सेक्स अंतरंगता और रिश्तों को बेहतर बनाता है। वैवाहिक जीवन को मजबूत बनाता है।
सेक्स करने से कई बीमारियों के दर्द से राहत मिल सकती हैं, जैसे गठिया, सिर दर्द इत्‍यादि में सेक्स के बाद कुछ राहत पा सकते हैं।
सेक्स महिलाओं कैंसर, सिस्‍ट जैसी बीमारियों के भी खतरे को भी कम करता है।
महिलाओं में सेक्स पेल्विक मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। संभोग के दौरान उनकी पेल्विक मांसपेशियों का व्यायाम होता है जिससे महिलाओं में यूरीन असंयम का जोखिम कम हो जाता है।
बेहतर नींद के लिए सेक्स जरूरी है। संभोग के बाद, महिलाओं को बेहतर नींद आती है और स्वास्थ्य लाभ होता है।

सफेद प्याज दूर कर देगी पुरुषों की कमजोरी!
यौन रोग, स्वपनदोष, सेक्स ना करने की इच्छा, शीघ्रपतन, कमजोरी, थकान… आदि किसी भी तरह की बड़ी से बड़ी सेक्सुअल समस्या को दूर करने के लिए ये एक सफेद प्याज ही काफी है। अगर आप शर्म के कारण किसी डॉक्टर्स या हकीम के पास नहीं जा पा रहे हैं और ना ही अपनी समस्या के बारे में किसी से बात कर पा रहे हैं तो किचन में जाएं। आपके किचन में हर तरह के मर्ज का इलाज छुपा हुआ है। आपको केवल इन इलाजों के बारे में जानने की जरूरत है। जैसे कि सर्दी दूर करने के लिए घर में ही काढ़ा तैयार करते हैं वैसे ही मर्द की कमजोरी दूर करने के लिए किचन में रखे प्याज का इस्तेमाल करें।


50 ग्राम सफेद प्याज में उपस्थित पोषक तत्व
प्रोटीन- 0.6 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट -5.55 मि.ग्रा.
विटामिन -7.5 मि.ग्रा.
वसा- 0.05 ग्राम
कैल्शियम- 23.45 मिग्रा.
खनिज- 0.02 ग्राम
फॉस्फोरस- 25 मि.ग्रा.
कैलोरी -25 मि.कै.
फाइबर- 0.3 ग्राम
लौह- 0.35 मि.ग्रा.
पानी- 43.3 ग्राम
इन पोषक-तत्वों की वजह से बुजुर्ग प्याज को सब्जी कम, औषधि अधिक मानते थे। वीर्यवृद्धि के लिए, कामशक्ति को बढ़ाने के लिए और कमजोरी व नपुंसकता आदि की समस्या को दूर करने के लिए प्याज और घी का संयोग काफी गुणकारी हैं। किसी भी तरह की यौन समस्या से छुटाकारा पाने के लिए प्याज एक सस्ता व सुलभ इलाज है।

गर्भवती होने के लिए कब कब करें सेक्स
गर्भवती होने के लिए सही समय पर सेक्स करना जरूरी है।
गर्भवती होने के लिए सेक्स का कोई निर्धारित समय नहीं है।
गर्भवती होने के लिए सेक्‍स जितना ही जरूरी है इस बात का ज्ञान होना कि सेक्‍स कब किया जाए। इस तथ्‍य को नजरअंदाज करने से कई बार गर्भधारण करने में परेशानी भी आती है। आइए जानें कि माह में किस समय सेक्‍स करने से गर्भधारण की संभावना अधिक होती है। पुरुष के शुक्राणु का साथी महिला के गर्भ में जाने से गर्भधारण होता है। महिला के अंडाणु से शुक्राणु का मेल होना और निषेचन की क्रिया का होना ही गर्भधारण है।

यूं तो गर्भधारण न कर पाने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इनमें शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के कारण हो सकते हैं। इन कारणों के पीछे अधिकतर ज्ञान और जानकारी का अभाव होता है। लेकिन, इन सब कारणों के अतिरिक्‍त एक अन्‍य कारण भी होता है जिसका असर महिलाओं की गर्भधारण की क्षमता पर पड़ता है- और वह कारण है सही समय पर सेक्‍स न करना। अधिकतर जोड़े इस बात से अंजान होते हैं कि गर्भधारण में सेक्‍स की ‘टाइमिंग’ बहत मायने रखती है।
सुबह का समय
गर्भधारण के लिए सेक्‍स का समय सुबह का होना चाहिए क्‍योंकि सुबह के समय आप तरोताजा़ रहते हैं। स्‍त्री रोग विशेषज्ञ बताती हैं कि ‘जिन महिलाओं में रेगुलर पीरियड हो वे प्रेगनेंट होने के लिए पीरियड के बाद दस दिन के अंतराल में सेक्‍स करें, इससे प्रेगनेंट होने की संभावना ज्‍यादा होती है और जिनमें अनियमित पीरियड हो वे प्रेगनेंसी के लिए पीरियड के साइकिल में नियमित अंतराल (साइकिल के दौरान 16 दिन के बीच) पर सेक्‍स करें।’

शहद और टमाटर का मिश्रण 2 मिनट में बढ़ाए संभोग शक्ति

पुरुषों को होती है कई तरह की सेक्स समस्या इन समस्याओं का समाधान है टमाटर और शहद इस मिश्रण को लेने के दौरान नशा ना करें।
पुरुषों को ऐसी कई सारी बीमारियां होती है जिनके बारे में वो खुलकर बता नहीं पाते। महिलाएं तो अपनी दोस्तों और अपनी मां को बता भी देती हैं। लेकिन पुरुष किससे बताए…??

तो इसके लिए पुरुष ये लेख पढ़े। इस लेख में हम आपको टमाटर और शहद के मिश्रण की जानकारी दे रहे हैं। इसे इस्तेमाल करें और अपनी सभी तरह की सेक्सुअल समस्या को जड़ से खत्म कर दें। क्योंकि पुरूषों की ये बीमारियां भले ही व्यक्तिगत हो लेकिन ये पूरे परिवार को प्रभावित करती हैं। इन सेक्‍स समस्‍याओं के कारण पुरूष अत्‍याधिक कमजोरी भी महसूस करने लगते हैं। जिससे कई पुरुष मानसिक अवसाद की चपेट में भी आ जाते हैं और बाबा-हकीमों के चक्कर लगाने लगते हैं।

अगर आपका भी कोई ऐसा दोस्त है जो ऐसे ही किसी समस्या से ग्रस्त है और खुलकर इस पर बात नहीं कर पा रहा है तो उन्हें ये टमाटर और शहद का अचूक उपाय बताएं। इसे इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है।

इसके लिए सबसे पहले रोज सुबह नाश्‍ते में एक ग्‍लास टमाटर का रस लें। फिर इसमें दो चम्‍मच शहद मिलाएं। अब इस मिश्रण को पिएं। इसे पीने से स्पर्म काउंट में बढ़ोतरी होती है जिससे संभोग की शक्ति बढ़ती है।

इस जूस को पीने से एक घंटे पहले और पीने के एक घंटे बाद तक किसी भी तरह की चाय और कॉफी का सेवन ना करें। हो सके तो कैफीन और सिगरेट का सेवन बंद ही कर दें। तब ये मिश्रण अधिक असर दिखाता है।

नोट- इन पर अमल करने से पहले रजिस्‍टर्ड चिकित्सक से सालह लें। वैसे यह पूरी तरह सुरक्षित घरेलू उपचार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here