Bachon Me Diabetes Kaise Hote Hai

0
784

मौजूदा समय में डायबिटीज एक आम बीमारी बन चुकी है. विशेषज्ञ मानते रहे हैं कि इस बीमारी के लिए विभिन्न जीन्स जिम्मेवार हैं. अब इस दिशा में वैज्ञानिकों को एक नयी सफलता मिली है. वैज्ञानिकों ने इंसान के शरीर में डायबिटीज का जोखिम पैदा करनेवाले जीन्स का पता लगाते हुए उनकी संख्या को सीमित करने में कुछ हद तक कामयाबी हासिल की है. हालिया शोध का एक बड़ा फायदा यह हुआ है कि अब यह जाना जा सकेगा कि किसके शरीर में ‘टाइप-1 डायबिटीज’ की आशंका है और उसे किस प्रकार रोका जा सकता है.डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो धीरे-धीरे शरीर को खोखला बना देती है। डायबिटीज न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी खतरनाक बीमारी मानी जाती है। जरा सोचिये, अगर आपके बच्चे को ये बीमारी हो जाए तो? बच्चों के साथ सबसे बड़ी समस्या होती है कि उनकी समस्या जल्दी से समझ नहीं आ पाती। बच्चे अपनी समस्याओं को ठीक से समझा नहीं पाते। ऐसे में कई बार उनके अंदर बीमारी काफी देर तक पलती रहती है। देर तक इलाज न होने की वजह से समस्या बढ़ जाती है।
डायबिटीज के लक्षण
1. प्‍यास लगना– जब बच्‍चों में शुगर लेवल बढ जाती है तो उन्‍हे ढेर सारी प्‍यास लगती है और उनकी इच्‍छा पानी पीने के अलावा मीठी कोल्‍ड ड्रिंक पीने की भी होती है।
2. बार-बार पेशाब लगना– जब ज्‍यादा प्‍यास लगेगी तो जाहिर सी बात है कि पेशाब भी बार बार लगेगी। इस बारे में माता पिता को चौकन्‍ना रहना चाहिये।
3. भूख लगना– इस दौरान बच्‍चे बहुत भूखे हो जाते हैं और उनमें एनर्जी कम होने लगती है।
4. वजन कम होना- मधुमेह से पीडित बच्‍चे चाहे जितना खा लें, लेकिन उनके बदन पर बिल्‍कुल भी वजन नहीं चढेगा। यह सबसे आम लक्षण है बच्‍चों में मधुमेह रोग होने का।
5. थकान से भरे रहना– मधुमेह से पीडित बच्‍चों में जब इंसुलिन नहीं रहता है तो उनमें ऊर्जा खतम हो जाती है और वह थकान से भर जाते हैं।
6. ईस्‍ट संक्रमण– छोटी बच्‍चियों में ईस्‍ट संक्रमण भी हो सकता है। यहां तक कि जो शिशु डायपर पहनते हैं उन्‍हें भी ईस्‍ट की वजह से घाव हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here