स्तनपान के फायदे बच्चे और माँ के लिए

0
385

स्तनपान लाभ की बात करें तो यह सच में माँ और बच्चे के लिए बेहतरीन होता है क्योंकि माँ बनना किसी भी महिला के लिए सामाजिक स्तर पर एक सम्मान की बात होती है और साथ ही उसकी जिन्दगी में एक बड़ा परिवर्तन और एक तरह से प्रकृति और से एक वरदान की तरह होता है और इसके साथ ही बहुत सारी जिम्मेदारियां होती है जो माँ बनने के बाद शुरू होती है जो उस से पहले जिनका उन्होंने अहसास भी नहीं किया होता है और जब बात हो स्तनपान की तो इसके बारे में लाभ की बात करते है तो बहुत से ऐसे फायदे है जिनके बारे में बात की जा सकती है
1. चिकित्सा युग के अनुसार माँ का दूध बच्चे की सेहत के लिए सबसे बेहतर होता है और जो बच्चे 2-12 माह तक के होते है उनके लिए तो यह बहुत ही आवश्यक होता है और आमतौर पर वह बच्चे जिन्हें माँ का दूध इस उम्र में नहीं दिया जाता है उनकी तुलना में वो अधिक स्वस्थ होते है |
यह भी सही है कि जिन बच्चो ने जितने लम्बे समय तक स्तनपान की होती है उनमें मानसिक विकास तेजी से होता है और वो अधिक बुद्धिमान भी होते है |


2. न केवल बच्चे के लिए अपितु माँ की सेहत के लिए भी स्तनपान सही होती है क्योंकि बच्चे के जन्म के बाद जो गर्भाशय से खून बह रहा है होती है वो कम हो जाती है |
3. अमेरिकन एकेडमी ऑफ पेडियाट्रिक्स (एएपी) के अनुसार जो आपके नए बच्चे के पोषण और उसके विकास के लिए जरुरी तत्व आवश्यक होते है वो सब माँ के दूध में होते है जैसे कि विटामिन , फैट और प्रोटीन के साथ माँ का दूध बच्चे के लिए सुपाच्य भी होता है |
4. माँ के दूध में बहुत से एंटीबॉडी होते है जो आपके बच्चे को किसी भी तरह के इन्फेक्शन और बीमारी से बचाव करता है |
5. वातावरण के प्रति शरीर में पैदा होने वाली अतिसंवेदनशीलता यानि के एलर्जी होने की सम्भावनाये भी कम हो जाती है अगर आप बच्चे को नियमित रूप से स्तनपान करवाती है तो |
6. कुछ और भावनात्मक रूप से भी फायदे है क्योंकि जब आप उसे स्तनपान करवाती है तो आपका बच्चा आपके सबसे करीब होता है और माँ और बच्चे का आँख से संपर्क भी होता है जो आपको भावनात्मक रूप में आपस में जोड़ता है |
7. इस से आपके बच्चो को मौसमी बीमारियाँ जैसे जुकाम और बुखार जैसी बीमारियों से भी बचने में मदद मिलती है |

स्तनपान करवाने से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ
माँ का दूध हर बच्चे के लिए अच्छा होता है, और स्तनपान से होने वाले लाभ उस में मौजूद पोषण तत्वों से भी कई गुणा अधिक हैं। माँ का दूध विटामिस और पोषक तत्वों से युक्त होता है जो जन्म के पहले छह महीनों में शिशु के लिए बहुत जरुरी है, साथ ही इस में मौजूद कुछ तत्व आपके बच्चे में बीमारियों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं जिसे उनके बीमार होने का खतरा कम रहता है। ब्रिटेन में देखा गया है कि यहां पर बहुत कम ही माएं हैं जो बच्‍चे को 6 महीने तक स्‍तनपान करवाती हैं। जिन बच्चों को बचपन में पर्याप्त रूप से मां का दूध पीने को नहीं मिलता, उनमें बचपन में शुरू होने वाले डायबिटीज की बीमारी अधिक होती है। आइये जानते हैं कि स्‍तनपान करवाने से माओं को होने वाले स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक लाभ ।
ब्रिटेन में देखा गया है कि यहां पर बहुत कम ही माएं हैं जो बच्‍चे को 6 महीने तक स्‍तनपान करवाती हैं। जिन बच्चों को बचपन में पर्याप्त रूप से मां का दूध पीने को नहीं मिलता, उनमें बचपन में शुरू होने वाले डायबिटीज की बीमारी अधिक होती है। आइये जानते हैं कि स्‍तनपान करवाने से माओं को होने वाले स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक लाभ ।
स्तनपान से गर्भावस्था में हुए शारीरिक बदलावों को ठीक होने में मदद मिलता है। यह माँओं को प्रसव दौरान हुई पीड़ा को भूला कर अपने बच्चे के दुलार में खोने में मदद करता है।
स्तनपान गर्भाशय के आकार को तेज़ी से घटाने में मदद करता है, अर्थात प्रसव के बाद गर्भवती महिला के गर्भाशय को पूर्व आकार में परिवरतित करने में मदद करता है।
स्तनपान, प्रसवोत्तर खून की कमी को नियंत्रित करता है जिसे प्रसवोत्तर रक्तस्राव का खतरा कम हो जाता है।
स्तनपान से प्रसवोत्तर स्त्रीबीजजनन की अवधि बढ़ती है, अर्थात प्रसव के बाद मासिक धर्म चक्र की शुरुआत देरी से होती है।
स्तनपान से माँ का रिश्ता अपने बच्चे के साथ और गहरा हो जाता है। यह बिना किसी प्रयास के अपने बच्चे के निकट आने का एक अच्छा तरीका है।
स्तनपान से माँओं का आत्मसम्मान सकारात्मक तरीके से बढ़ता है।
स्तनपान, गर्भावस्था में बढ़े वजन को कम करने में मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here